तेज और निष्पक्ष खबरों को जानने के लिए बने रहे डिस्कवरी न्यूज़ डॉट इन or discoverynews.in, covid-19 से बचाव के लिए मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग करते रहे, महामारी में वीज़ा नियमों में ढील : विदेश में बसे भारतीय, विदेशी नागरिक भारत आ सकते हैं, लेकिन टूरिस्ट वीज़ा पर नहीं, बिहार चुनाव : BJP ने किया 19 लाख नौकरियों, हर बिहारवासी को फ्री कोरोना वैक्सीन का वादा, योगी आदित्यनाथ के बयान पर ओवैसी का पलटवार- 24 घंटों में साबित करें कि आप सच्चे योगी हैं, H-1B स्पेशलिटी वीजा पर US विदेश विभाग का नया प्रस्ताव- सैकड़ों भारतीय हो सकते हैं प्रभावित, उद्धव सरकार का बड़ा फैसला, महाराष्ट्र में बिना इजाजत CBI की 'नो एंट्री', लेह में गलत लोकेशन दिखाने पर भारत सरकार ने जताई आपत्ति, Twitter के सीईओ को लिखी चिट्ठी, ताइवान के विदेश मंत्री बोले- हमारे निवेशकों ने भारत में पैदा किए 65000 रोजगार, देश में कोरोना के कुल मामले 77 लाख के पार, 24 घंटे में दर्ज हुए 55,839 केस, दुश्मन की नींद उड़ाएगी 'नाग' एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल, पोखरण में सफल परीक्षण, NASA's Osiris-Rex : ऐस्टरॉइड पर उतरा NASA का स्पेसक्राफ्ट, 2023 में पृथ्वी पर लौटेगा, दिल्ली दंगे से जुड़े 3 मामलों में ताहिर हुसैन को झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका , स्मार्ट LED TV पर बंपर छूट, Amazon पर मिल रहा 50 परसेंट तक डिस्काउंट,
BREAKING NEWS
{"effect":"slide-h","fontstyle":"normal","autoplay":"true","timer":"5000"}

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    कोरोना वायरस के प्रकोप को कम करने के लिए अब 3 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए इसकी जानकारी दी. पीएम मोदी के ऐलान के बाद भारतीय रेलवे ने भी सभी पैसेंजर और मेल एक्सप्रेस ट्रेनों को 3 मई तक के लिए बंद रखने का फैसला लिया है.

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    इसके अलावा फ्लाइट सेवा भी 3 मई तक के लिए बंद रहेगी. ऐसे में सवाल है कि इस अवधि में जिन लोगों ने यात्रा की प्लानिंग कर रखी है या टिकट करा रखा है, उनका क्या होगा. उन्हें रिफंड मिलेगा या नहीं. आइए विस्तार से जानते हैं..

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    अगर आपने इंटरनेट से रेल टिकट करा रखा है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है. दरअसल, बीते दिनों आईआरसीटीसी ने बताया था कि यात्री की ओर से ई-टिकट को रद्द करने की आवश्यकता नहीं है. अगर यात्री अपनी टिकट को रद्द करता है, तो संभावना है कि उसे कम पैसा मिले. यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे उन ट्रेनों के लिए ई-टिकट को रद्द न करें, जिन्हें रेलवे ने रद्द कर दिया है.

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    आईआरसीटीसी के मुताबिक ई-टिकट की बुकिंग के लिए यात्री द्वारा इस्तेमाल किये गये खाते में उसका पूरा पैसा भेज दिया जायेगा. रेलगाड़ी रद्द होने के मामले में रेलवे द्वारा कोई शुल्क नहीं काटा जाता है.

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    वहीं अगर आपने काउंटर से रेल टिकट ले रखा है तो आपको 21 जून तक रिफंड मिल जाएगा. रेलवे की ओर से बार-बार कहा जा रहा है कि यात्रियों को पूरा पैसा लौटाया जाएगा. ऐसे में जरूरी है कि आप निश्चिंत रहें और 3 मई के बाद की भी प्लानिंग सोच-समझ कर करें.

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    बता दें कि रेलवे कंट्रोल ऑफिस, चार कम्‍युनिकेशन और फीडबैक प्लेटफार्म्स – हेल्पलाइन-139, 138, App, ट्विटर और ईमेल (railmadad@rb.railnet.gov.in) की 24×7 निगरानी कर रहा है. कहने का मतलब ये है कि इन सभी जगह से आप अपने हर सवालों का जवाब ले सकते हैं.

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    वहीं, फ्लाइट का टिकट ले रखा है तो रिफंड के लिए आपको अपनी एयरलाइन कंपनी से संपर्क करना होगा . दरअसल, एयरलाइन कंपनियों ने अभी आधिकारिक तौर पर कोई जानकारी नहीं दी है.

  • 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा, अब आपके रेल और फ्लाइट टिकट का क्या होगा

    एयरलाइन कंपनियां टिकट कैंसिल के रिफंड को लेकर तरह-तरह के स्कीम्स दे रही हैं. मसलन, रिफंड लेने की बजाए आप आगे किसी रूट में टिकट ले सकते हैं.

    इसकी अवधि 1 साल की होगी. ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी एयरलाइन कंपनी से संपर्क करें और उनसे रिफंड के बारे में पूरी जानकारी लें.

ADVERTISEMENT

क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

प्रहलाद कुमार

14 अप्रैल 2020

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में एक प्रवासी दिल्ली से बिहार के दरभंगा में लौटकर आया तो उसे 14 दिनों के लिए क्वारनटीन कर दिया गया. नौवें दिन उसी क्वारटीन सेंटर में खिड़की से लटकी उसकी लाश मिली तो पुलिस के होश उड़ गए. प्रारंभिक रूप से परिजन जहां इसे हत्या बता रहे हैं तो पुलिस इस माैत को आत्महत्या करार दे रही है. क्वारटनटीन सेंटर में हुई इस मौत से सियासी बवाल भी मच गया है.

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    बिहार के दरभंगा में प्रशासन द्वारा बनाये क्वारनटीन सेंटर में सोमवार को विनोद यादव (50) की मौत के बाद हड़कंप मच गया है. मामले की गंभीरता को देखते मौके पर डीएम
    और एसएसपी भी पहुंचे.

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    मृतक दिल्ली में रहकर मजदूरी करता था और लॉकडाउन में दिल्ली से दरभंगा पंहुचा था. जिला प्रशासन ने उसे कोरोना संदिग्ध मानकर 14 दिनों के लिए सिमरी थाना इलाके के कमरौली उत्क्रमित हाई स्कूल में क्वारनटीन में रख दिया था, जहां यह घटना हो गई. इस क्वारनटीन सेंटर में मृतक शख्स के अलावा दो और लोग भी क्वारनटीन किए गए थे जो अलग-अलग कमरों में थे.

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    क्वारनटीन सेंटर में मौत की खबर सुन इलाके के आरजेडी विधायक भोला यादव भी मौके पर पहुंचे और सरकार द्वारा बनाये क्वारनटीन सेंटर पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार पूरी तरह विफल है. कहीं कोइ व्यवस्था नहीं है साथ की उन्होंने कहा कि सरकार की देखरेख में मौत हुई है, ऐसे में मृतक के परिजनों को 50 लाख रुपये की मुआवजा सरकार दे.

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    इधर परिवार के लोगों ने बताया कि उनकी मौत कैसे हुई यह तो नहीं पता लेकिन जिस खिड़की से फंदा लगा कर मौत की बात बताई जा रही है, उसमें शक जरूर होता है. खिड़की
    की ऊंचाई भी इतनी नहीं है कि इसमें कोई फांसी लगा सकता है

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    मृतक के बेटे ने कहा कि पिता को टीवी की बीमारी जरूर थी लेकिन इलाज़ के बाद वे स्वस्थ हो गये थे. रविवार की रात भी बात और मुलाकात हुई लेकिन कोई ऐसी बात उन्होंने नहीं बताई जिससे वे परेशान हों.

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    इधर मौके पर पहुंचे डीएम त्याग राजन ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा की मौत के पीछे के कारण की जांच की जा रही है. शुरुआती जानकारी के अनुसार, मृतक विनोद यादव
    टीबी की बीमारी से भी ग्रसित था, संभवत: पारिवारिक कारण और बीमारी के कारण तनाव भी आत्महत्या का एक कारण हो सकता है. फिलहाल, पूरे मामले की जांच की जा रही है.

  • क्वारनटीन सेंटर में मौत से बवाल, मर्डर-सुसाइड में उलझा केस

    दरभंगा के एसएसपी ने भी तत्काल सभी बिंदुओं पर खुद जांच की और मौके पर उपस्थित सभी लोगों से पूछताछ भी की. उन्होंने भी मीडिया से बात करते हुए कहा की मृतक टीबी जैसी बीमारी से पीड़ित था. हो सकता है किसी तनाव के कारण ऐसा कदम उठाया हो लेकिन पूरी घटना की जांच करने के बाद ही पता चल पायेगा आखिर घटना के पीछे असली वजह क्या है?

ADVERTISEMENT

कोरोना: लॉकडाउन में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया सैनिटाइजर

अनिल भारद्वाज

13 अप्रैल 2020

  • कोरोना: लॉकडाउन में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया सैनिटाइजर

    देश सहित पूरी दुनिया में इन दिनों कोरोना का कहर मचा हुआ है. भारत में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन किया गया है. इसी बीच उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां एक नवजात बच्चे का नाम उसके माता-पिता ने सैनिटाइजर रख दिया.

  • कोरोना: लॉकडाउन में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया सैनिटाइजर

    दरअसल, ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के सहारनपुर का है. यहां एक निजी अस्पताल में पैदा हुए एक बच्चे का नाम सैनिटाइजर रख दिया गया. और यह नाम खुशी-खुशी नवजात के माता-पिता ने रखा है. ऐसा नाम सुनकर कई लोगों को अचरज हुआ लेकिन लोग प्रसन्न नजर आए.

  • कोरोना: लॉकडाउन में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया सैनिटाइजर

    बच्चे के माता-पिता का कहना है कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के लगातार बढ़ रहे केसों में सरकार और विभिन्न संस्थाओं द्वारा कोरोना से बचाव के लिए सैनिटाइजर का प्रयोग किया जा रहा है. और हम लोगों ने सोचा कि हम भी इस सोच में अपना योगदान देंगे. इसी के चलते हमने अपने बच्चे का नाम यह रखा है.

  • कोरोना: लॉकडाउन में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया सैनिटाइजर

    बच्चे के पिता का कहना है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जहां लोगों को कोरोना जैसी घातक बीमारी के प्रति जागरूक कर रहे हैं उसी जागरूकता में भाग लेते हुए हमने अपने बच्चे का नाम सैनिटाइजर रखा है.

  • कोरोना: लॉकडाउन में पैदा हुआ बच्चा, नाम रख दिया सैनिटाइजर

    फिलहाल नवजात ‘सैनिटाइजर’ लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. उधर कोरोना वायरस के आंकड़ों की बात करें तो भारत में लगातार मामले बढ़ रहे हैं. कुल संक्रमित मामलों की संख्या 9300 के पार जा चुकी है जबकि 320 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

    ADVERTISEMENT

लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

गौरव सावंत

13 अप्रैल 2020

  • लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

    केंद्र सरकार लोगों के घरों से बाहर निकलने का नया तरीका निकाल रही है. उम्मीद जताई जा रही है कि इस नए तरीके से आम लोगों को कोई दिक्कत नहीं होगी. केंद्र सरकार एक ऐप के जरिए यह सुनिश्चित करेगी कि कौन सा व्यक्ति बाहर निकलेगा या नहीं. इसके लिए केंद्र सरकार राज्य की सरकारों से बातचीत भी कर रही है. (फोटोः रॉयटर्स)

  • लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

    केंद्र सरकार जिस ऐप के जरिए आपके घूमने-टहलने की अनुमति देगी, उस ऐप का नाम है आरोग्य सेतु. आरोग्य सेतु बताएगा कि आप बाहर निकलने लायक हो या नहीं. (फोटोः रॉयटर्स)

  • लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

    अगर आरोग्य सेतु ऐप ने आपको ग्रीन कार्ड दे दिया तो आप बसों, ट्रेनों, सार्वजिनक वाहनों, मॉल्स और बाजार आदि में घूमने के लिए सक्षम होंगे. अगर इसने ग्रीन कार्ड नहीं दिखाया तो आप घर में बंद रहेंगे. (फोटोः रॉयटर्स)

  • लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

    आरोग्य सेतु एक ऐसा ऐप है जो जीपीएस और ब्लूटूथ के जरिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करता है. फिलहाल केंद्र और राज्य सरकार इस बारे में विचार-विमर्श कर रही हैं. ताकि आरोग्य सेतु एप के जरिए लोग बाहर निकल सकें. (फोटोः रॉयटर्स)

  • लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

    चार दिन पहले यानी गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल से आरोग्य सेतु से जुड़े कई सारे ट्वीट किए. पीएम मोदी चाहते हैं कि देश में ज्यादा से ज्यादा लोग इस ऐप का इस्तेमाल करें ताकि कोरोना से लड़ने में मदद मिले और उसके प्रसार को रोका जा सके. (फोटोः रॉयटर्स)

  • लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने में मदद करेगा आरोग्य ऐप, यूं मिलेगी हरी झंडी

    पीएम मोदी ने लिखा कि केवल कोविड-19 से डरने से मदद नहीं मिलेगी. हमें सही सावधानी बरतनी होगी. इस महामारी से लड़ना होगा. आरोग्य सेतु उस दिशा में एक

1 Review

Влад Измайлов
1

UKP-66

Купим складские остатки: УКП-66 цвет Белый (BLNDA000011) 1450руб. УКП-66 цвет Молоко (BLNDA000012) 1500руб. УКП-66 цвет Бежевый (BLNDA000017) 2000руб. УКП-66 Алюминий, Титан, Антрацие (BLNDA000013, BLNDA000014, BLNDA000016) 2450руб.

Write a Review

admin

Read Previous

PM मोदी का ऐलान- 3 मई तक जारी लॉकडाउन ,और सख्त होंगे नियम

Read Next

मुंबई: सरेआम उड़ीं Lockdown की धज्जियां, बांद्रा स्टेशन पर जमा हुए सैकड़ों मजदूर, गृह मंत्री ने दिया ये बयान