तेज और निष्पक्ष खबरों को जानने के लिए बने रहे डिस्कवरी न्यूज़ डॉट इन or discoverynews.in, covid-19 से बचाव के लिए मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग करते रहे, कांग्रेस के स्थापना दिवस और राहुल की विदेश यात्रा पर सियासी घमासान, सोशल मीडिया में भी बाढ़, तीन दिवसीय यात्रा पर दक्षिण कोरिया रवाना हुए सेनाप्रमुख नरवणे, रक्षा संबंधों को बढ़ाने पर होगा जोर, मुंबई से गिरफ्तार हुए तीन बांग्लादेशी नागरिक, नकली पैन और आधार कार्ड बरामद, 2021 में दिखेंगे ग्रहण के 4 नजारे, 2 भारत में दिखाई देंगे, चीनी नागरिकों की यात्रा पर प्रतिबंध के एयरलाइंस को निर्देश देने से सरकार का इनकार, डाक टिकट पर डॉनः छोटा राजन और मुन्ना बजरंगी के डाक टिकट छाप दिए, अब जांच होगी, जलकल के महाप्रबंधक के साथ मारपीट के 5 आरोपी पुलिस गिरफ्त में, लगेगा गैंगस्टर एक्ट, ICC ने बनाई दशक की बेस्ट T-20 टीम, आगरा की पूनम यादव को मिली जगह, गिलगित बल्तिस्तान में पाकिस्तान की सेना का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, चार की मौत, राजस्थान के किसान की 3 बेटियों ने रचा इतिहास, एक साथ PhD की डिग्री हासिल कर बनाया रिकॉर्ड, यूपी बेसिक शिक्षा विभाग ने शुरू की NCERT पाठ्यक्रम लागू करने की तैयारी, टीचर्स किए जाएंगे ट्रेंड, मध्य प्रदेश पुलिस में 4000 पदों पर भर्ती के लिए फुल नोटिफिकेशन जारी, 31 दिसंबर से होंगे रजिस्ट्रेशन, GOOD NEWS! जल्द शुरू होगी यूपी में शिक्षकों की भर्ती, 31 जनवरी तक मांगे आवेदन,
BREAKING NEWS
{"effect":"slide-h","fontstyle":"normal","autoplay":"true","timer":"5000"}

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों और छात्रों को वापस घर जाने की छूट दे दी है। जिसके बाद हर प्रदेश अपने-अपने नागरिकों को बुलाने की व्यवस्था कर रहे हैं। आज दिल्ली से भी पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना की गई। रेलवे अधिकारियों ने ताली बजाकर श्रमिकों को विदा किया।

धीरज दीक्षित/नई दिल्ली 
स्पेशल कोरेस्पोंडेंट 
नई दिल्ली
पूरे देशभर में लॉकडाउन फंसे मजदूरों के घर लौटने का सिलसिला जारी है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना हुई। रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों ने तालियां बजाकर मजदूरों को विदा किया। रेलवे कर्मचारियों ने ‘भारत माता की जय’, ‘भारतीय रेलवे जिंदाबाद’ और ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए।
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों और छात्रों को वापस घर जाने की छूट दे दी है। जिसके बाद हर प्रदेश अपने-अपने नागरिकों को बुलाने की व्यवस्था कर रहे हैं। आज दिल्ली से भी पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना की गई। रेलवे अधिकारियों ने ताली बजाकर श्रमिकों को विदा किया।43 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें 51 हजार से अधिक मजदूरों
उत्तर प्रदेश में अब तक विभिन्न प्रदेशों से 43 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें 51 हजार से अधिक मजदूरों और कामगारों को लेकर आ चुकी हैं तथा अभी 43 से अधिक और ट्रेन प्रदेश में आनी हैं। दूसरे प्रदेशों से श्रमिकों को लेकर ट्रेनों का आने का सिलसिला जारी है । विदेशों में रहने वाले भारतीयों को लेकर पहला विशेष विमान शारजाह से नौ मई को लखनऊ पहुंचेगा। इसमें 200 यात्री अपने खर्चे पर प्रदेश आयेंगे ।

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन
अपर मुख्य सचिव (गृह और सूचना) अवनीश अवस्थी ने बृहस्पतिवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक 43 से अधिक ट्रेन आ चुकी हैं या आने वाली हैं। बृहस्पतिवार रात 12 बजे तक 13 और ट्रेनों के आने की संभावना उन्होंने व्यक्त की है।
इन शहरों तक पहुंची ट्रेन
उन्होंने बताया कि आगरा, कानपुर, लखनऊ, जौनपुर, बलिया, गोरखपुर, बरेली, प्रयागराज, कन्नौज, बाराबंकी, बांदा, सीतापुर, प्रतापगढ़, आजमगढ़ और उन्नाव में ट्रेनें प्रवासियों को लेकर आई हैं। अवस्थी के मुताबिक अब तक आने वाली 43 ट्रेनों में 51 हजार 371 लोग आए हैं। उन्होंने संभावना जताई कि आने वाली 13 अन्य ट्रेनों में करीब 15 हजार श्रमिक आ सकते हैं। अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार या उसके बाद 43 अन्य अतिरिक्त ट्रेनों के संचालन की अनुमति दे दी गई है।99 ट्रेनों की व्यवस्था की गई है।
इनमें भी 53 हजार से अधिक लोग आ सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को लाने के लिए 99 ट्रेनों की व्यवस्था की गई है। अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि रोडवेज की बसों से राजस्थान से 10 हजार लोगों को लाने का काम शुरू कर दिया गया है। अब तक एक लाख श्रमिकों व कामगारों को लाने व ले जाने का कार्य हुआ है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र सरकार से प्रति दिन 10 ट्रेन भेजने का आग्रह किया गया है। पंजाब से भी 17 ट्रेनों को उत्तर प्रदेश में श्रमिकों को लाने की अनुमति दी गई है, इन 17 में 4 ट्रेन आ चुकी हैं।

सीएम ने दिया निर्देश
केरल से पहली ट्रेन लखनऊ पहुंच गई है। तेलंगाना से 2 ट्रेनें आ गई हैं। अवस्थी ने बताया कि आने के बाद सभी कामगारों व श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच के बाद जिन्हें भी घर में पृथक रहने के लिए भेजा जा रहा है उन्हें भरण-पोषण के लिए एक हजार रुपया और मानक के अनुसार खाद्यान्न भी उपलब्ध कराने का निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया है। अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विदेशों से आने वालों लोगों के लिए भी निर्देश जारी किया है। विदेश मंत्रालय की सहायता से दूसरे देशों से लोगों को लाने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में 9 मई की शाम 8 बजे पहला विमान शारजाह से आएगा।

बेंगलुरु से 1192 श्रमिकों को लेकर एक ट्रेन बृहस्पतिवार सुबह लखनऊ पहुंची
200 लोगों को लेकर यह विमान लखनऊ में उतरेगा। आने वाले लोगों को 14 दिन पृथक-वास में रहने के बाद ही घर भेजा जाएगा। उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक राजशेखर ने बताया कि बेंगलुरु से 1192 श्रमिकों को लेकर एक ट्रेन बृहस्पतिवार सुबह लखनऊ पहुंची। श्रमिकों को जांच के बाद 43 सरकारी बसों से सोनभद्र, गाजीपुर, गोंडा, बलरामपुर, प्रतापगढ़, अमरोहा, अंबेडकर नगर, मुरादाबाद, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया रवाना किया गया। उन्होंने बताया कि इसी तरह हैदराबाद से चलकर एक ट्रेन 1079 श्रमिकों को लेकर गुरूवार सुबह बाराबंकी पहुंची । इन सभी श्रमिको का स्वास्थ्य परीक्षण कर इन्हें 40 बसों के माध्यम से हरदोई, लखनऊ, सीतापुर और लखीमपुर रवाना किया गया । इसी तरह बुधवार देर रात पंजाब के जालंधर से 1164 यात्रियों को लेकर एक ट्रेन लखनऊ पहुंची ।

0 Reviews

Write a Review

admin

Read Previous

राहत की खबर / कोरोना के एक्टिव मरीजों के मामले में भारत दुनिया में 9वें स्थान पर पहुंचा, रिकवरी रेट बढ़कर 28.83% हुई

Read Next

दिल्ली में महसूस किए गए झटके, एक महीने के अंदर तीसरी बार आया भूकंप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *