तेज और निष्पक्ष खबरों को जानने के लिए बने रहे डिस्कवरी न्यूज़ डॉट इन or discoverynews.in, covid-19 से बचाव के लिए मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग करते रहे, महामारी में वीज़ा नियमों में ढील : विदेश में बसे भारतीय, विदेशी नागरिक भारत आ सकते हैं, लेकिन टूरिस्ट वीज़ा पर नहीं, बिहार चुनाव : BJP ने किया 19 लाख नौकरियों, हर बिहारवासी को फ्री कोरोना वैक्सीन का वादा, योगी आदित्यनाथ के बयान पर ओवैसी का पलटवार- 24 घंटों में साबित करें कि आप सच्चे योगी हैं, H-1B स्पेशलिटी वीजा पर US विदेश विभाग का नया प्रस्ताव- सैकड़ों भारतीय हो सकते हैं प्रभावित, उद्धव सरकार का बड़ा फैसला, महाराष्ट्र में बिना इजाजत CBI की 'नो एंट्री', लेह में गलत लोकेशन दिखाने पर भारत सरकार ने जताई आपत्ति, Twitter के सीईओ को लिखी चिट्ठी, ताइवान के विदेश मंत्री बोले- हमारे निवेशकों ने भारत में पैदा किए 65000 रोजगार, देश में कोरोना के कुल मामले 77 लाख के पार, 24 घंटे में दर्ज हुए 55,839 केस, दुश्मन की नींद उड़ाएगी 'नाग' एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल, पोखरण में सफल परीक्षण, NASA's Osiris-Rex : ऐस्टरॉइड पर उतरा NASA का स्पेसक्राफ्ट, 2023 में पृथ्वी पर लौटेगा, दिल्ली दंगे से जुड़े 3 मामलों में ताहिर हुसैन को झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका , स्मार्ट LED TV पर बंपर छूट, Amazon पर मिल रहा 50 परसेंट तक डिस्काउंट,
BREAKING NEWS
{"effect":"slide-h","fontstyle":"normal","autoplay":"true","timer":"5000"}

पूर्वी लद्दाख में बीती सोमवार की रात भारतीय सेना के जवानों की चीनी सैनिकों से हुई हिंसक झड़प में चार भारतीय जवानों की हालत गंभीर चल रही है. सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ANI ने यह जानकारी दी है.

सोमवार को चीनी सैनिकों से हुई हिंसक झड़प के बाद चार भारतीय जवानों की हालत गंभीर: सूत्रों के हवाले से ANI

लद्दाख में चीनी सेना के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों ने जान गंवाई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पूर्वी लद्दाख में बीती सोमवार की रात भारतीय सेना के जवानों की चीनी सैनिकों से हुई हिंसक झड़प में चार भारतीय जवानों की हालत गंभीर चल रही है. सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ANI ने यह जानकारी दी है. बता दें कि आर्मी की ओर से पुष्टि की गई है कि लद्दाख की गलवान घाटी में हुई इस हिंसक झड़प में कम से कम 20 भारतीय जवानों ने देश के लिए जान गंवाई है. ANI की ओर से मंगलवार को कहा गया था कि चीनी सेना के 43 सैनिक भी हताहत हुए हैं, हालांकि सेना की ओर से इस संबंध में कोई बयान नहीं दिया गया है.

यह भी पढ़ें

मंगलवार को सेना की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ‘भारतीय और चीनी सैनिक गलवान क्षेत्र में अलग हो चुके हैं जहां वे पहले 15/16 जून 2020 की दरमियानी रात को भिड़ गए थे. 17 भारतीय सैनिक जो स्टैंड ऑफ लोकेशन पर ड्यूटी करते हुए गंभीर रूप से घायल हो गए थे और उच्च ऊंचाई वाले इलाके में शून्य से कम तापमान में एक्सपोज हो गए थे, उनकी चोटों के कारण जान चली गई है, जिसके बाद इस झड़प में कुल मिलाकर 20 जवानों ने जान गंवाई.

  • गलवान घाटी के पास झड़प में चीन को भारी नुकसान
  • चीन का कमांडिंग अफसर भी मारा गया: सूत्र

भारत और चीन के सैनिकों के बीच गलवान घाटी के पास हुई हिंसक झड़प में चीन को भी भारी नुकसान हुआ है. बॉर्डर के पास हुए तनाव के बाद बड़ी संख्या में एम्बुलेंस, स्ट्रेचर पर घायल और मृत चीनी सैनिकों को ले जाया गया. बताया जा रहा है कि चीन के करीब 40 से अधिक सैनिक हताहत हुए हैं. हालांकि, चीन ने अपनी ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं की है.

सूत्रों के अनुसार, इस घटना में चीन का भी एक कमांडिंग अफसर मारा गया है, जो कि झड़प की अगुवाई कर रहा था. बता दें कि भारतीय सेना के भी कमांडिंग अफसर की इस झड़प में जान गई थी.

लद्दाख में LAC पर हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद, चीन के 43 सैनिक हताहत

एम्बुलेंस में ले जा रहा सैनिकों को

सूत्रों के हवाले से जो खबर मिली है, उसके मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है. इस नुकसान के अनुमान का आधार ये है कि चीन बॉर्डर पर स्ट्रेचर, एम्बुलेंस के जरिए घायल-मृत सैनिकों को ले जा रहा है. इसके अलावा गलवान नदी के पास चीनी हेलिकॉप्टर की हलचल बढ़ी है, जिसके जरिए सैनिकों को ले जाया जा रहा है.

इसके अलावा जो सैनिक चीन के साथ हुई इस झड़प शामिल थे, उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की है. हालांकि, चीन को कितना नुकसान हुआ है इसका सटीक आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है हालांकि 40 के करीब की संख्या बताई जा रही है.

चीन ने हताहतों की संख्या मानने से किया इनकार

इससे पहले मंगलवार को भी ग्लोबल टाइम्स की ओर से इस बात को स्वीकारा गया था कि चीन को भारी नुकसान हुआ है. लेकिन बाद में वह संख्या बताने से मुकर गया था, इसके अलावा चीनी विदेश मंत्रालय ने भी कोई संख्या नहीं दी थी.

चीनी सेना ने 6 जून को कही थी पीछे हटने की बात, 10 दिन में रच डाली खूनी साजिश

दूसरी ओर भारतीय सेना की ओर से अपने आधिकारिक बयान में जानकारी दी गई कि भिड़ंत में 20 जवान शहीद हुए हैं. शुरुआत में तीन के शहीद होने की जानकारी सामने आई थी, उसके बाद अन्य 17 को जोड़ा गया. सेना की ओर से बुधवार को इन सभी 20 शहीदों के नाम जारी किए जाएंगे.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच मई के महीने से ही लद्दाख में तनाव चल रहा था. समझौते के तहत चीन को मौजूदा जगह से पीछे हटना था, जब भारतीय सेना के जवान वहां पर उसे सूचित करने पहुंचे. तो धोखे से चीनी सेना ने भारतीय जवानों पर हमला कर दिया. इसी दौरान भारत के कमांडिंग अफसर समेत कुल 20 जवान शहीद हो गए.

  • गलवान घाटी के पास झड़प में चीन को भारी नुकसान
  • चीन का कमांडिंग अफसर भी मारा गया: सूत्र

भारत और चीन के सैनिकों के बीच गलवान घाटी के पास हुई हिंसक झड़प में चीन को भी भारी नुकसान हुआ है. बॉर्डर के पास हुए तनाव के बाद बड़ी संख्या में एम्बुलेंस, स्ट्रेचर पर घायल और मृत चीनी सैनिकों को ले जाया गया. बताया जा रहा है कि चीन के करीब 40 से अधिक सैनिक हताहत हुए हैं. हालांकि, चीन ने अपनी ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं की है.

सूत्रों के अनुसार, इस घटना में चीन का भी एक कमांडिंग अफसर मारा गया है, जो कि झड़प की अगुवाई कर रहा था. बता दें कि भारतीय सेना के भी कमांडिंग अफसर की इस झड़प में जान गई थी.

लद्दाख में LAC पर हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद, चीन के 43 सैनिक हताहत

एम्बुलेंस में ले जा रहा सैनिकों को

सूत्रों के हवाले से जो खबर मिली है, उसके मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है. इस नुकसान के अनुमान का आधार ये है कि चीन बॉर्डर पर स्ट्रेचर, एम्बुलेंस के जरिए घायल-मृत सैनिकों को ले जा रहा है. इसके अलावा गलवान नदी के पास चीनी हेलिकॉप्टर की हलचल बढ़ी है, जिसके जरिए सैनिकों को ले जाया जा रहा है.

इसके अलावा जो सैनिक चीन के साथ हुई इस झड़प शामिल थे, उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की है. हालांकि, चीन को कितना नुकसान हुआ है इसका सटीक आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है हालांकि 40 के करीब की संख्या बताई जा रही है.

चीन ने हताहतों की संख्या मानने से किया इनकार

इससे पहले मंगलवार को भी ग्लोबल टाइम्स की ओर से इस बात को स्वीकारा गया था कि चीन को भारी नुकसान हुआ है. लेकिन बाद में वह संख्या बताने से मुकर गया था, इसके अलावा चीनी विदेश मंत्रालय ने भी कोई संख्या नहीं दी थी.

चीनी सेना ने 6 जून को कही थी पीछे हटने की बात, 10 दिन में रच डाली खूनी साजिश

दूसरी ओर भारतीय सेना की ओर से अपने आधिकारिक बयान में जानकारी दी गई कि भिड़ंत में 20 जवान शहीद हुए हैं. शुरुआत में तीन के शहीद होने की जानकारी सामने आई थी, उसके बाद अन्य 17 को जोड़ा गया. सेना की ओर से बुधवार को इन सभी 20 शहीदों के नाम जारी किए जाएंगे.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच मई के महीने से ही लद्दाख में तनाव चल रहा था. समझौते के तहत चीन को मौजूदा जगह से पीछे हटना था, जब भारतीय सेना के जवान वहां पर उसे सूचित करने पहुंचे. तो धोखे से चीनी सेना ने भारतीय जवानों पर हमला कर दिया. इसी दौरान भारत के कमांडिंग अफसर समेत कुल 20 जवान शहीद हो गए.

मामले पर भारतीय विदेश मंत्रालय का भी बयान आया है. विदेश मंत्रालय ने इस घटना के पीछे यथास्थिति को बदलने के लिए की गई एकतरफा कोशिश को बताया है. मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि नुकसान को टाला जा सकता था. मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि तनाव घटाने के लिए बातचीत हो रही है. झड़प से दोनों पक्षों को नुकसान पहुंचा है. उन्होंने कहा कि चीन ने आपसी सहमति का सम्मान नहीं किया. हम शांति को प्रतिबद्ध हैं, लेकिन संप्रभुता बनाए रखेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व में शीर्ष स्तर पर जो सहमति बनी थी, अगर चीनी पक्ष ने गंभीरता से उसका पालन किया होता तो दोनों पक्षों की ओर जो हताहत हुए हैं उनसे बचा जा सकता था.

वीडियो: गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में भारत के 20 जवानों की गई जान

Source-NDTV & ANI

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

0 Reviews

Write a Review

admin

Read Previous

आखिर क्यों कर लेते है लोग आत्महत्या,पता नहीं दिनभर में कितने सुशांत कर लेते है अपने जीवन लीला का अंत,आइये जानते है इस स्पेशल रिपोर्ट में

Read Next

कोरोना से पहले इन् १० वायरसो ने दुनिया में मचाई थी तबाही, दुनिया भर में हुयी थी लाखो मौते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *